राजस्थान सी ई टी 2022 - 15 अगस्त बाद शुरू होगी प्रक्रिया || Rajasthan CET 2022 After 15 August 2022

राजस्थान प्रदेश में 15 अगस्त बाद CET  प्रक्रिया शुरू होगी जिसमे 20 हजार से अधिक नए पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी।  CET परिणाम की वैधता 1 वर्ष होगी। राजस्थान सी ई टी के बारे में यहाँ से पढ़े।


प्रदेश में पहली बार स्नातक और 12 के लिए CET सामान पात्रता परीक्षा के तहत भर्ती प्रक्रिया होने जा रही है।  यह नई व्यवस्था इसी साल 15 अगस्त के बाद शुरू होने जा रही है।  नए परीक्षा पैटर्न के आधार पर स्नातक स्तर के 3 हजार और 12 स्तर के 17 हजार पदों पर भर्ती प्रक्रिया होना प्रस्तावित है।  कर्मचारी चयन बोर्ड राजस्थान ने हाल ही में सभी बोर्डों से रिक्त पदों की जानकारी मांगी थी, जिसमे कुछ विभागों से रिक्त पदों की सूचना मिल चुकी है जबकि कुछ विभागों से जल्दी ही मिल जाएगी। 


कौन कौन से बढ़ी भर्तियां CET के माध्यम से होने वाली है। 

CET 2022 में बड़ी भारतीय एलडीसी और पुलिस कांस्टेबल की होगी।  सामान पात्रता परीक्षा में पास होने वाले विधार्थियों में से सम्बंधित विभाग में निकली भर्ती के कुल योग का 15 गुना अभ्यर्थी जिनके CET में अच्छे अंक होने उन्हें विभाग की परीक्षा में बैठने की अनुमति होगी।  

Rajasthan CET 2022


CET 2022 के स्कोर कार्ड को आप सभी भर्ती परीक्षाओं की प्री परीक्षा मान सकते है।  

12 लेवल की ये भर्तियां अब CET के माध्यम से होगी। 

  • छात्रावास अधीक्षक के 48 पद 
  • सचिवालय सेवा में लिपिक ग्रेड द्धितीय 
  • अधीनस्थ कार्यालय में लिपिकवर्गीय सेवा 
  •  RPSC में कनिष्ठ लिपिक ग्रेड द्धितीय
  • पुलिस कांस्टेबल लगभग 4 हजार पद 
  • आबकारी विभाग में जमादार वर्ग दितीय 

कब होगी CET प्ररीक्षा 
सीनियर सेकेंडरी स्तर की परीक्षा इसी साल दिसंबर में जबकि स्नातक स्तर की CET परीक्षा  साल फरवरी में होने की सम्भावना है।  

स्नातक स्तर की CET में दो बड़ी भारतीय जिनमे एक एकीकृत बार विकाश अधीनस्थ सेवा  परिवेक्षक और अभियांत्रिकी अधीनस्थ सिचाई सेवा में जिलेदार पद की अभ्यर्थना अभी बोर्ड के पास नहीं पहुंची है।  

इसके अलावा पल्टून कमांडर, पटवारी (सिचाई सेवा ), कनिष्ठ लेखाकार तहसील राजस्व लेखाकार, परिवक्षक महिला अधिकारिता, उप जेलर और छात्रावास अधीक्षक ग्रेड II की  अभ्यर्थना RSMSSB बोर्ड के पास पहुंच चुकी है। 
स्नातक स्तर पर पहुंची अभ्यर्थना के पद इस प्रकार है 
पल्टून कमांडर : 50 
पटवारी (सिचाई सेवा ) : 272 
कनिष्ठ लेखाकार तहसील राजस्व लेखाकार: 1983 
 परिवक्षक महिला अधिकारिता: 74 
 उप जेलर: 49 
 छात्रावास अधीक्षक ग्रेड II : 200 

CET लागू होने के कई लाभ है तो कुछ कमिया भी है।  

CET के लाभ 
  • इससे विधार्थियों को राजस्थान स्तर की सभी प्रतियोगिता परीक्षाओं में सिर्फ एक बार CET ही  देकर विभाग की मुख्य परीक्षा दे सकेंगे।
  • इससे बार बार परीक्षाओं के लिए जाने पर होने वाले समय और पैसे की बचत होगी।  
  • अच्छे अंक अर्जित करने वाले विधार्थियों को अगले स्कोर तक कई मौके मिलेंगे। 

CET से हानि 
  • सरकार के आने और जाने पर ही अधिकतर भर्तियां निकलती है इसलिए अच्छे स्कोर कार्ड वाले अभ्यर्धियों को अधिक लाभ होगा। 
  • यदि CET में पेपर ख़राब या समय पर नहीं पहुंच पाने या कोई पारिवारिक जरुरत के कारण परीक्षा नहीं दे पाया या अच्छे अंक नहीं ला पाया तो अगले CET स्कोर तक इन्तजार करना होगा।  उस दोहरान निकली भर्तियों से वंचित रह सकता है।  
  • पुराने पैटर्न में आप सभी भर्तियों में अप्लाई कर परीक्षा दे सकते थे लेकिन अब CET के बाद आपके CET स्कोर पर निर्भर करेगा की आप  आने वाली भर्ती के 15 गुना अभ्यर्थियों में शामिल होकर मुख्य परीक्षा में बैठते है या नहीं। 

CET की सबसे बड़ी कमी यह  कि वो विधार्थी जो अंतिम पायदान पर है उन्हें अगले CET एग्जाम में बेहतर स्कोर कार्ड नहीं होने तक प्रतियोगिता परीक्षाओं से लगभग वंचित ही रहेगा।